स्टार्टअप क्योरफिट -सबसे अधिक तंदरुस्त कौन है ?

स्वास्थ्य स्टार्टअप क्योरफिट के बेंगलूरु कार्यालय में खुद कर्मचारियों के बीच ही यह प्रतिस्पर्धा चल रही है कि उनमें सबसे अधिक तंदरुस्त कौन है। इस मामले में स्टार्टअप के संस्थापक मुकेश बंसल और अंकित नागौरी क्रमश: पहले और दूसरे पायदान पर हैं। कंपनियों के शीर्ष कार्याधिकारियों के बीच यह कहावत अपनी प्रासंगिकता खोती जा रही है कि लोगों को जो सलाह देते हैं, उस पर खुद अमल करें। लेकिन ऐसा लगता है कि क्योरफिट में यह कहावत फल-फूल रही है।

यह स्टार्टअप लोगों को स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने पर केंद्रित है। यह कहती है कि अच्छे काम की शुरुआत घर से की जाए। बंसल ने ऑनलाइन फैशन स्टार्टअप मिंत्रा स्थापित की थी और इसे फ्लिपकार्ट को बेच दिया था। नागौरी ने फ्लिपकार्ट में 33 नंबर के कर्मचारी के रूप में शुरुआत की थी और वह कंपनी के मुख्य कारोबार अधिकारी तक पहुंचे। बंसल और नागौरी अत्यधिक पूंजी की जरूरत वाले इस कारोबार को चलाने के लिए पर्याप्त मात्रा में पूंजी जुटाने में सफल रहे हैं। इस उपक्रम में उसके निवेशकों- एस्सेल पार्टनर्स, कलारी कैपिटल और आईडीजी वेंचर्स ने दो चरणों में संयुक्त रूप से 4.5 करोड़ डॉलर का निवेश किया है। क्योरफिट का कारोबार ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह का है।
अवसर 
फिक्की और ईऐंडवाई की जनवरी 2017 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत का स्वास्थ्य एवं रोकथाम स्वास्थ्य बाजार वर्ष 2020 तक 1.5 लाख करोड़ रुपये का होने का अनुमान है क्योंकि व्यायाम या योग और स्वास्थ्यवर्धक खाद्य के उपभोग के जरिये अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने वाले लोगों की तादाद बढ़ती जा रही है। यह बाजार 2015 में 85,000 करोड़ रुपये का था। क्योरफिट उन मध्यम स्तर और वरिष्ठ कार्याधिकारियों को एक समन्वित सेवा- फिटनेस के लिए कल्ट डॉट फिट, मानसिक स्वास्थ्य के लिए माइंड डॉट फिट और स्वास्थ्यवर्धक खाने के लिए ईट डॉट फिट मुहैया कराने में अवसर देख रही हैं, जो अपने कैरियर या कारोबार में ज्यादा कुछ हासिल करने के लिए इसकी सेवा लेना चाहते हैं। इसके लिए स्टार्टअप सभी साजोसामान वाली जिम, मानसिक स्वास्थ्य के लिए केंद्र और यूजर के मुताबिक खाना पकाने वाले रसोईघर बना रही है। नागौरी कहते हैं कि ऐसी कोई अकेली कंपनी नहीं है जो अपने स्वास्थ्य को सुधारने के इच्छुक व्यक्ति को समन्वित पेशकश करती है। नागौरी कहते हैं, ‘हम एक ऐसा ऑनलाइन और ऑफलाइन उपक्रम बना रहे हैं, जो शारीरिक स्वास्थ्य. मानसिक स्वास्थ्य और स्वास्थ्यवर्धक खाना मुहैया कराएगा, जिसमें सभी आपूर्ति हम करेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘हमने बेंगलूरु के एक हिस्से में सेवाएं शुरू की हैं। इसके बाद हम अन्य बाजारों में विस्तार करेंगे।’
कारोबारी मॉडल 
कल्ट एक नया क्षेत्र है। कंपनी मोटे वेतन वाले उन लोगों को खुद से जोडऩे की योजना बना रहा है, जिनकी शारीरिक गतिविधि न के बराबर होती है। भले ही यह बेंगलूरु, हैदराबाद और दिल्ली में  स्टार्टअप एïवं आईटी कंपनियों के कर्मचारी हों या मुंबई में वित्तीय एवं विज्ञापन उद्योग के विश्लेषक। परंपरागत जिमों से इतर कल्ट में ऑफलाइन सेंटर होंगे, जिनमें किसी प्रशिक्षक की अगुआई में समूह कक्षा होगी। ये प्रशिक्षक लोगों को फिटनेस हासिल करने के लिए एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा करने और खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। खाना और मानसिक स्वास्थ्य एक पैकेज के रूप में आएंगे, जो किसी व्यक्ति की संपूर्ण सेहत के लिए उपयोगी होंगे।
नागौरी ने कहा, ‘हम प्रशिक्षण कार्यक्रम बनाने पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। जो कोई व्यक्ति कल्ट प्रशिक्षक बनता है, उसे चार सप्ताह के कड़े प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है और रसोइयों का भी ऐसा ही प्रशिक्षण होता है।’ उन्होंने कहा, ‘हम इसे आकांक्षापूर्ण बनाना चाहते हैं। स्कूल और कॉलेजों के एथलीट को अपनी पढ़ाई पूरी होने के बाद हमसे जुडऩे के बारे में विचार करना चाहिए।’
पर्याप्त पूंजी होने से क्योरफिट ने पहले से स्थापित जिमों- ट्राइब फिटनेस क्लब,  ए1000योग और क्रिस्टीज किचन का अधिग्रहण किया है ताकि उसे अपने प्रतिस्पर्धियों पर बढ़त मिले। इसके बेंगलूरु में 16 ऑफलाइन सेंटर हैं, जिसे वर्ष के अंत तक 29 करने की योजना है। अक्टूबर में एक कल्ट सेंटर गुडग़ांव में खोला जाएगा। इन सेंटरों की संख्या 2018 के अंत तक 100 करने का लक्ष्य है। कंपनी को उम्मीद है कि वह रोजाना 25,000 ग्राहकों को सेवा देगी। इसने हृतिक रोशन को ब्रांड ऐंबसेडर बनाया है। नागौरी कहते हैं, ‘यह अत्यधिक पूंजी की जरूरत वाला कारोबार है, लेकिन बहुत अधिक मुनाफे का भी है। कल्ट खर्च की गई पूंजी 12 से भी कम महीनों में वसूल कर सकती है।’ उन्होंने कहा, ‘सभी 16 केंद्रों में कल्ट 1 करोड़ रुपये से अधिक का मुक्त नकदी प्रवाह मुहैया करा रही है।’
चुनौतियां 
क्योरफिट ने धमाकेदार शुरुआत की है। इसने बेंगलूरु से शुरुआत की है और यह अन्य शहरों में भी विस्तार के बारे में विचार कर रही है। इस समय यह तकनीक आधारित ऐप मुहैया कराती है, जो ऑफलाइन फिटनेस कोर्स के लिए पंजीकरण कराने वाले लोगों को प्रोत्साहित करता है। यह सबस्क्रिप्शन पर भी विचार कर रही है, जो एक अनुमानित राजस्व मुहैया कराएगा। तलवलकर्स, गोल्ड जिम और स्नैप फिटनेस जैसी शृंखलाओं के ग्राहकों की तादाद काफी अधिक है और इन्होंने खुद को एक ब्रांड के रूप में स्थापित किया है। ये भी कल्टफिट मॉडल का अनुसरण कर सकती हैं। बेंगलूरु स्थित ऐंजल निवेशक और स्टार्टअप सलाहकार दिनेश गोयल ने कहा, ‘क्योरडॉटफिट ने निश्चित रूप से उस क्षेत्र में खुद को दूसरों से अलग साबित किया है, जो नया है। हालांकि उसे सही मायनों में सफल होने के लिए शहरी भारतीयों की खुद की तंदरुस्ती को देखने के नजरिये को बदलना होगा।’

About News Trust of India

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful