मनीष सिसोदिया ने उपराज्यपाल अनिल बैजल पर किया हमला

चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ आप विधायकों द्वारा कथित हमले के बाद अब दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी उपराज्यपाल अनिल बैजल पर करारा हमला किय है। सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि अनिल बैजल अपनी गरीमा भूलकर आईएएसस अधिकोरियों को समर्थन करने कर रहे हैं।

उपराज्यपाल को नहीं है परवाह 
मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि अनिल बैजल अधिकारियों को समर्थन दे रहे हैं और उन्हें गरीब जनता की परवाह नहीं है। दरअसल दो दिन पहले मनीष सिसोदिया ने बैजल को चिट्ठी लिख कर अनुरोध किया था कि वह अधिकारियों को मंत्रियों द्वारा बुलाई गई मीटिंग में जाने का आदेश दें। मगर मनीष सिसोदिया का कहना है कि बैजल ने आदेश देने के बजाय मुख्यमंत्री को ही नसीहत भरी चिट्ठी भेज दी है। सिसोदिया ने कहा कि इससे जाहिर है कि आप आईएएस यूनियन के उस फतवे का खुलकर समर्थन कर रहे हैं जिसके तहत जूनियर अधिकारियों तक को मंत्रियों से बात न करने, मीटिंग में ना जाने के लिए बाध्य किया जा रहा है।
PunjabKesari
उपराज्यपाल के कारण नहीं मिल रही सैलरी
मनीष सिसोदिया ने चिट्ठी के जरिए उपराज्यपाल अनिल बैजल पर आरोप लगाया है कि हजारों लोगों को उनके चलते सैलरी नहीं मिल रही है। उन्होंने लिखा ‘आपकी चिट्ठी ने अधिकारियों का मनोबल बढ़ा दिया है। अगर ये गरीब आंगनवाड़ियों का वेतन तीन-तीन महीने तक रोक कर रखेंगे तो मैं तो इनसे लड़ूंगा। आप तय कर लें कि आपको किस तरफ खड़े होना है। एलजी होने के नाते, सर्विस विभाग का प्रमुख होने के नाते मेरी आपसे विनती जरूर है कि इनकी सैलरी रोकने के लिए जिस भी विभाग का जो भी अधिकारी जवाबदेह हो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। देश की किसी आईएएस यूनियन ने कभी अपने ऐसे अधिकारियों के खिलाफ फतवा जारी नहीं किया जिनके निकम्मेपन या करप्शन की वजह से गरीब घरों के चूल्हे महीनों तक जलने मुश्किल हो जाते हैं।’
PunjabKesari
केजरीवाल को आत्ममंथन की नसीहत
दो दिन पहले उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री को एक पत्र भेजकर उन्हें आत्ममंथन करने की नसीहत दी थी। बैजल ने लिखा था कि ये विचार करने का वक्त है कि आज दिल्ली में शासन व्यवस्था को लेकर ऐसे हालात कैसे पैदा हो गए। उपराज्यपाल ने ये भी कहा कि मुख्य सचिव के साथ हुई घटना से न केवल दिल्ली, बल्कि समूचे देश की नौकरशाही सकते में है। उन्होंने मुख्यमंत्री को ये नसीहत भी दी कि उन्हें सरकार के अफसरों व कर्मचारियों से सीधे बात करनी चाहिए क्योंकि आज ये सभी खुद को पूरी तरह असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

चीफ सेक्रेटरी की चिट्ठी
इससे पहले बुधवार को बजट सत्र पर कैबिनेट मीटिंग से पहले दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश ने अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी लिखी थी। इसमें उन्होंने लिखा था, “वे मीटिंग में तभी शामिल होंगे, जब सीएम ये सुनिश्चित करें कि उनपर किसी तरह का हमला या मौखिक टिप्पणी नहीं की जाएगी।”

About News Trust of India

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful