ये मोदी केयर नहीं, दरिद्र नारायण की सेवा है- PM

इस योजना के दायरे में गांवों और शहर के गरीब, वंचित लोग होंगे. सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना के हिसाब से गांवों में ऐसे 8.03 करोड़ और शहरों में 2.33 परिवार हैं. यदि एक परिवार में सदस्यों की औसतन संख्या 5 मानी जाए तो इस हिसाब से योजना का लाभ 50 करोड़ लोगों को मिलेगा.

दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-आयुष्मान भारत का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को झारखंड की राजधानी रांची से किया. इस योजना के जरिए देश के 50 करोड़ को स्वास्थ्य बीमा कवर मिलेगा.

योजना का शुभारंभ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस योजना का आंकलन भविष्य में मानवता की बहुत बड़ी सेवा के रूप में होना तय है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग इसे मोदी केयर कह रहे हैं, तो कुछ लोग गरीबों के लिए योजना कह रहे हैं. लेकिन मेरे लिए यह ‘दरिद्र नारायण’ की सेवा है. पीएम ने कहा कि यूरोपीय संघ, अमेरिका, कनाडा और मेक्सिको की जनसंख्या को मिलाकर भी ज्यादा भारतवासियों को एक साथ इस योजना का लाभ मिलने जा रहा है.

सरकारी के साथ निजी अस्पतालों में भी होगा इलाज

पीएम मोदी ने कहा कि 1300 गंभीर बीमारियों का इलाज सरकारी ही नहीं निजी अस्पताल में होगा. साथ ही यदि किसी को पहले से भी कोई बीमारी है तो उसको भी इस आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभ मिलेगा.

आरोग्य मित्र करेंगे लाभार्थियों की मदद

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र इस योजना का लाभ दिलाने में लाभार्थियों का सहयोग करेंगे. यह आरोग्य मित्र मरीजों की अस्पताल में भर्ती से लेकर उनकी छुट्टी तक उनकी साथ देंगे, ताकि इसका लाभ लेने में उन्हें कोई दिक्कत न हो. साथ ही इस योजना से आंगनवाड़ी और एएनएम बहनों को भी जोड़ा गया है. उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत आने वाले राज्य के नागरिक इसका लाभ अन्य राज्यों में भी ले सकते हैं.

रोजगार के खुलेंगे अवसर

पीएम ने कहा कि इस योजना के तहत 5 लाख तक का जो खर्च है उसमें अस्पताल में भर्ती होने के अलावा जरूरी जांच, दवाई, भर्ती से पहले का खर्च और इलाज पूरा होने तक का खर्च भी शामिल है. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में देश में 1.5 लाख वेलनेस सेंटर खोले जा रहे हैं. ताकि गंभीर से गंभीर बीमारी का पता शुरुआती स्तर पर ही लग सके.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा इस योजना के शुभारंभ की वजह से लाखों पैरामेडिकल, डॉक्टर, मैनेजमेंट के लोगों को जुड़ने का मौका मिलेगा. पीएम मोदी ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि देश में 3-4 संसदीय क्षेत्र में एक मेडिकल कॉलेज बनाने का है.

पीएम का विपक्ष पर तंज

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे सरकार की सारी योजनाएं गरीबों के सशक्तिकरण को केंद्र में रखकर बनाई गई हैं. उन्होंने पिछली सरकार पर सरकारी खजानों को वोटबैंक के आधार पर खर्च करने और लूटना आरोप लगाया. लेकिन इस योजना का लाभ हर समाज, हर बिरादरी, धर्म, क्षेत्र और समुदाय को मिलेगा यही ‘सबका साथ, सबका विकास’ है.

पीएम ने कहा कि आजादी के 70 साल में झारखंड में तीन मेडिकल कॉलेज और 350 विद्यार्थी थे. लेकिन चार सालों में इसी राज्य में 8 मेडिकल कॉलेज और 1200 छात्र. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि काम कैसे किया जाता है.

पीएम मोदी ने कांग्रेस का नाम लिए बिना कहा कि जो लोग गरीबों के नाम की माला जपते थें, जो लोग गरीबी हटाओ का नारा देते थें, वे लोग सोचते थे कि गरीब कुछ न कुछ मांगता है. यही उनकी सबसे बड़ी गलतफहमी थी. गरीब से बड़ा स्वाभिमानी कोई नहीं होता. मैने गरीबी को देखा है इसलिए मैं उनकी पीड़ा समझता हूं.

25 सितंबर से लागू होगी आयुष्मान भारत योजना

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश के गरीबों को भी वो सुविधा मिलनी चाहिए जो इस देश के धनी आदमी को मिलती है. उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से एक विशेष अवसर भी जुड़ा है बाबासाहेब अंबेडकर की जयंती पर 14 अप्रैल को छ्त्तीसगढ़ के बस्तर से जब मैने वेलनेस सेंटर का शुभारंभ किया गया, तो पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिवस 25 सितंबर के दो दिन पूर्व इस योजना का शुभारंभ किया जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि आज राष्ट्रकवि दिनकर की भी जन्मतिथि है. ऐसे में यह योजना इन सभी महान विभूतियों को समर्पित है. बता दें कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का पं. दीन दयाल उपाध्याय के जन्मदिवस 25 सितंबर को लागू होगी.

About News Trust of India

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful