Monthly Archives: April 2017

रोबोट बनाने की दिशा में एक प्रयोग

रोबोट अब हमारे लिए नई चीज नहीं हैं. दुनिया के कई मुल्कों में वे तरहतरह के काम निबटा रहे हैं. हमारे देश की कई फैक्ट्रियों में भी रोबोभुजाएं एक ही तरह से किए जाने वाले कई कार्य कुशलता से संपन्न कर रही हैं. हाल में, मुंबई में एक निजी बैंक की शाखा में ‘इरा’ नामक रोबोट को ग्राहकों के स्वागत ...

Read More »

लाली की शादी में लड्डू दीवाना

शादी और करियर में से किसे कितना महत्व दिया जाए, इस दुविधा में फंसी युवा पीढ़ी की कहानी को बेतरतीब तरीके से पेश की जाने वाली फिल्म है-‘‘लाली की शादी में लड्डू दीवाना’’. फिल्म में नायक अपने करियर की आड़ में अपनी गर्भवती प्रेमिका से दूर हो जाता है और उसकी शादी किसी अन्य से होती है. फिल्म की कहानी ...

Read More »

आखिर अक्षय को मिला बेस्ट एक्टर का अवार्ड

अभिनेता अक्षय कुमार जो किसी अवार्ड सेरेमनी में कभी नहीं जाते, क्योंकि उन्हें कभी कोई अवार्ड नहीं मिलता. लेकिन इस बार जब उन्हें फिल्म ‘रुस्तम’ के लिए नेशनल अवार्ड से सम्मानित किया गया. तो वे बहुत खुश हुए और मीडिया से अपनी खुशी को शेयर किया. उनका कहना है कि “मैं नेशनल अवार्ड की सभी ज्यूरी को धन्यवाद् देना चाहता ...

Read More »

मिट्टी ने की “लालू” की मिट्टी पलीद

लालू प्रसाद के परिवार पर 90 लाख रूपए की मिट्टी गैरकानूनी तरीके से पटना के संजय गांधी जैविक उद्यान को बेचने के आरोप से बिहार की राजनीति गरमा गई है. लालू इस मसले पर सफाई-दर-सफाई दे रहे हैं और नीतीश कुमार चुप्पी साधे हुए हैं. पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लालू के बेटे और वन एवं पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप ...

Read More »

मज़दूरों के शोषण का अड्डा है गारमेंट इंडस्ट्री

(मोहन भुलानी ) दुनियाभर की गारमेंट इंडस्ट्री कितने बूम पर है यह अंदाज़ा इससे लगाया जा सकता है कि आज व्यापार की दृष्टि से गारमेंट इंडस्ट्री, ऑइल इंडस्ट्री के बाद दूसरे स्थान पर है और इसका सालाना कारोबार 3 ट्रिलियन डॉलर से भी अधिक हो चुका है। हर वर्ष हम लोग 80 बिलियन नए कपड़े खरीदते हैं, जो 2 दशक ...

Read More »

जाति व्यवस्था को बढ़ावा देता आरक्षण

(दीपा धामी ) आधुनिक हिन्दुस्तान के सबसे विवादित विषयों में से एक है, आरक्षण। आरक्षण सरकारी नौकरियों में और सरकारी शिक्षण संस्थानों में। गौरतलब है कि हमारे संविधान के मुताबिक़ शैक्षणिक और सामाजिक पिछड़ेपन के आधार पर आरक्षण का प्रावधान है। इस तकनीकी लफ्ज़ “शैक्षिक और सामजिक पिछड़ेपन” का सरल अर्थ है “जाति” के आधार पर आरक्षण। क्योंकि ये माना ...

Read More »

कोचिंग हब से सुसाईड सिटी कैसे बना कोटा?

(नीरज त्यागी ) पिछले 5 सालों में 57 आत्महत्याओं के बाद कोटा का हॉस्टल एसोसिएशन, कुम्भकर्ण की नींद से जाग गया। ख़बर आयी कि अब कोटा के हॉस्टलों के सीलिंग फ़ैन्स में गुप्त ‘सायरन’ और ‘स्प्रिंग्स’ लगाए जाएंगे। माना जा रहा है कि इससे पंखे से लटक कर जान देने वालों पे लगाम लगेगी। दरअसल, पंखा बनाने वाली कंपनियों से ...

Read More »

राज्यसभा ने भी पास किया GST बिल

नई दिल्ली। गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स गुरूवार को राज्यसभा में पास कर दिया गया. यह लोकसभा में पहले ही पास किया जा चुका है. इससे बिना की संसोधन के पास कर दिया गया. ये बिल सेंट्रल जीएसटी, इंटीग्रेटेड जीएसटी, यूटी जीएसटी और जीएसटी कंपनसेशन हैं. सरकार इस बिल को मनी बिल के रूप में पेश कर रही है. राज्यसभा से ...

Read More »

जीवन की कठिनाइयों को झेलने की ट्रेनिंग जरूरी

(सुनील सरीन ) जीवन उतना सरल नहीं है जितना आज के किशोरों को लगता है. एक समय था जब किशोरों को अपने घरों में ही भाईबहनों व रिश्तेदारों के साथ प्रतियोगिता का सामना करना पड़ता था. हां, उन दिनों घर आज की तरह सूने नहीं होते थे. फिर भी सत्य यह है कि किशोर आज ज्यादा पा रहे हैं और ...

Read More »

मोदी ही है आधुनिक भारत के करिश्माई नेता

(मोहन भुलानी ) नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि उन का करिश्मा 1971 की इंदिरा गांधी की तरह का सा है और वे अपनी ही पार्टी के पुराने नेताओं को छोड़ कर अकेले मुश्किल इलाकों में भी जीत सकते हैं. सब की आंखें वैसे उत्तर प्रदेश की ओर ही लगी थीं और नरेंद्र मोदी ने ...

Read More »

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful