फर्जी नियुक्ति पत्र देकर धोखाधड़ी का आरोपी हुआ गिरफ्तार

रुद्रपुर। खटीमा में सरकारी विभागों का फर्जी नियुक्ति पत्र देकर 10 लोगों से 36.50 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने वाले एक नटवरलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पर पहले भी सात लोगों से नौकरी दिलाने के नाम पर 35 लाख रुपये की ठगी करने का केस दर्ज है। पुलिस और एसटीएफ चार महीने से आरोपी की तलाश में जुटी थी।

दो दिन पहले खटीमा कोतवाली में खेतलसंडा मुस्ताजर निवासी सुरेश चंद्र ने पुलिस को सौंपी तहरीर में बताया था कि कुछ समय पहले उसकी मुलाकात नौसर खटीमा निवासी इंद्रजीत साहनी उर्फ अजय साहनी से हुई थी। अजय ने उसके बच्चों सहित 10 रिश्तेदारों को सरकारी और संविदा नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। इसमें आठ को संविदा व दो को राज्य सरकार की नौकरी दिलाने की बात हुई। इसके एवज में अजय ने उससे 36.50 लाख रुपये लिए।

आरोप है कि इसके बाद अजय ने सभी को नौकरी के फर्जी नियुक्ति पत्र थमा दिए। जब सुरेश को ठगी का एहसास हुआ तो उसने अजय से रुपये लौटाने को कहा जिस पर अजय टालामटोली करता था। सोमवार को पुलिस कार्यालय में एसएसपी डॉ. मंजूनाथ टीसी ने बताया कि केस दर्ज करने के बाद रविवार को अजय साहनी को खटीमा क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले आरोपी ने पिछले वर्ष सितंबर में खेतलसंडा निवासी मनोज उर्फ बॉबी रावत से भी उसके बेटों व रिश्तेदारों सहित छह लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर 35 लाख रुपये हड़पे थे। इस मामले का भी एक केस खटीमा कोतवाली में दर्ज है।

एसएसपी ने बताया कि एसटीएफ पिछले कई दिनों से अजय की तलाश में जुटी थी लेकिन वह एसटीएफ के हाथ नहीं आ सका था। आरोपी को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। आरोपी के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई करने के साथ ही उसकी अवैध संपत्ति भी जब्त की जाएगी।

खुद को बताता है नेताओं और मंत्रियों का खास

अजय साहनी बेहद शातिर है। वह पहले लोगों को नौकरी लगवाने का झांसा देता है और फिर खुद को नेताओं एवं मंत्रियों का खास बताता है। इसके साथ ही वह अपने को एनजीओ संचालक भी बताता है। साथ ही देहरादून में अधिकारियों में पैठ भी बताता है। जब लोग उस पर भरोसा कर लेते हैं तो आरोपी उनके रुपये हड़प लेता है।

अजय के पास हैं दो कोठियों के साथ दो महंगी कारें

आरोपी अजय के पास खटीमा में दो आलीशान कोठियां होने के साथ ही दो महंगी कारें हैं। एसएसपी ने बताया कि अजय की कार में हूटर व उत्तराखंड शासन का पास भी चस्पा है। पुलिस ने आरोपी की एक कार को जब्त कर दिया है। उसकी कार से एफसीआई, लोनिवि, उपनल, रेलवे, उद्यान विभाग सहित कई विभागों के युवाओं के फर्जी नियुक्ति पत्र मिले हैं। अजय राज्य सरकार के सभी विभागों में नौकरी दिलवाने का फर्जी दावा करता था।

बाउंस चेक देने का आरोप

बीते सितंबर में खेतलसंडा निवासी मनोज ने जब अजय को 35 लाख रुपये दिए और इसके बाद जब अजय नौकरी नहीं लगवा सका तो मनोज ने तकादा किया। बताया जा रहा है कि काफी टालमटोल के बाद अजय ने उसे चेक दिया जो बाउंस हो गया था। इसके बाद मनोज को रुपये वापस नहीं मिल सके।

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful