शक्सियत

हर साल 1 लाख आदिवासियों का इलाज करने वाले डॉक्टर्स दम्पति

साल 1992 में डॉक्टर पति-पत्नी, रेगी एम. जॉर्ज और ललिता ने सित्तिलिंगी का दौरा किया। तमिलनाडु में कालरायन और सित्तेरी पहाड़ियों के बीच बसे धरमपुरी ज़िले का यह आदिवासी गाँव बाकी आधुनिक दुनिया से बिल्कुल ही कटा हुआ था। यह ‘मालवासी’ या ‘पहाड़ी लोगो’ का घर था, जो बारिश पर आधारित खेती से निर्वाह करते थे।  ये दोनों पहली बार अलप्पुझा के ...

Read More »

बच्चों की जिज्ञासा को पंख लगाता है ‘अविष्कार’

कहते हैं कि आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है। शिक्षा के क्षेत्र में कुछ ऐसी ही आवश्यकता हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में रहने वाले एक दंपत्ति ने भी देखी थी। इसलिए वो अमेरिका (USA) में पढ़ाई पूरी कर वापस लौट आए और अपने संगठन ‘अविष्कार’ (Aavishkaar) के जरिए सैकड़ों बच्चों को खास तरीके से शिक्षित करने का काम कर रहे हैं। आज उनकी कोशिशों की ...

Read More »

आतंक पर सर्जिकल स्ट्राइक करने वाला सुरक्षा कर्णधार – अजीत डोभाल

दुनिया में शायद ही ऐसा कोई होगा जो जेम्स बॉण्ड के नाम से वाक़िफ़ नहीं होगा। हमें याद है जब हम किसी बात को लेकर अधिक जिज्ञासा रखते थे तो कहा जाता था कि यार जेम्स बॉण्ड है क्या? कही न कही हम जेम्स बॉण्ड की कहानियों से प्रेरित तो थे, इसमें कोई शक नहीं है। और प्रेरित हो भी ...

Read More »

स्वीपर महिला ने बेटों को बनाया आईएएस, डॉक्टर और इंजीनियर

झारखंड: रिटायरमेंट का दिन हर किसी के लिए यादगार होता है। लेकिन झारखंड में रजरप्पा के सेंट्रल कोलफील्ड लिमिटेड टाउनशिप में चपरासी के पद पर काम करने वाली 60 वर्षीय सुमित्रा देवी का विदाई समारोह हर तरह से बहुत ख़ास था! सुमित्रा की विदाई में उनके सहकर्मी और टाउनशिप के सभी निवासियों के अलावा, उनके तीनों बेटे भी उपस्थित थे। ...

Read More »

पहाड़ी भुल्ला रसोईया “आकाश नौटियाल” कैसे बना आईटी एक्सपर्ट ?

खूबसूरत वादियों का प्रान्त उत्तराखंड के एक छोटे से गांव मानपुर से एक तेरह साल का लड़का घर छोड़ भाग निकला था। वह सिर्फ एक ही जगह से परिचित था, वह थी मुम्बई और उसने भी वही जाने का निश्चय किया। अवसरों की धरती, वह शहर जो कभी नहीं सोता, वह शहर जो सपनों का शहर था और जिसके पास ...

Read More »

अलबिंदर ढींढसा ग्राहकों को सामान डिलीवरी कर बने करोड़पति कारोबारी

प्रत्येक व्यक्ति की अभिलाषा होती है कि वह जो भी कार्य करे वह उसकी रुचि के अनुरूप हो तथा उसमें उसे सफलता मिले। हाल के कुछ वर्षों में भारत के युवा पीढ़ी से कई उद्यमी उभर कर आये हैं। इन युवाओं ने किसी कंपनी में काम करने की बजाय, खुद की कंपनी शुरू कर औरों के लिए रोजगार मुहैया में ...

Read More »

फूल बेचकर सालाना 200 करोड़ की कमाई करने वाला “विकास गुटगुटिया”

गम हो या खुशी के पल हो फूल हर अंदाज को बयां करने का सबसे आसान और खुबसूरत जरिया होते हैं। ताजे फूलों में खुशी को दोगुना और गम को हल्का करने की ताकत होती है। इन्हीं फूलों के छोटे से गुलदस्ते में कारोबारी संभावनाओं को देखा बिहार के विकास गुटगुटिया ने। महज 5 हज़ार रूपये की रकम से शुरुआत ...

Read More »

गरीबी से त्रस्त दिव्यांक ने बनाई 1000 करोड़ की कंपनी

धैर्य और दृढ़ संकल्प का बेमिसाल उदाहरण पेश करती दिल को छू लेने वाली यह कहानी एक शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्ति की है, जिसने शून्य से एक विशाल साम्राज्य का निर्माण किया। एक छोटे से फोटोकॉपी की दुकान से शुरुआत कर भारत के खुदरा व्यापार में क्रांति लाने वाले इस शख्स को जिंदगी की राह में अनगिनत बाधाओं का ...

Read More »

इस गांव के में विकास की झलक देखने आते हैं देश-विदेश से लोग

कौशल्य गाँव, गुजरात : यह किसी बड़े शहर के मेयर या सांसद का नहीं, बल्कि यह कहना है गुजरात के साबरकांठा जिले के दरामली गाँव की सरपंच हेतलबेन देसाई का। लगभग 1550 की आबादी वाले इस गाँव में हर वह सुविधा है, जो आपको बड़े- बड़े शहरों में मिलेंगी। साफ़-सुथरी सड़कें, बिजली, वाई-फाई आदि से लेकर गाँव के अपने ग्रामहाट और गृहउद्योगों ...

Read More »

मुंबई की इस युवती ने गरीब बच्चों की मुफ़्त शिक्षा के लिए बनाया स्कूल

22 वर्षीय हेमंती सेन को आप हर दिन कांदिवली स्टेशन स्काईवॉक पर 15 बच्चों को गिनती, वर्णमाला, शब्द, चित्रकारी आदि सिखाते हुए देख सकते हैं और वह भी बिना किसी फ़ीस के! ये सभी उन लोगों के बच्चे हैं, जो स्टेशन के आस-पास की झुग्गी-झोपड़ियों में रहते हैं और भीख मांगकर गुज़ारा करते हैं।मई, 2018 में हेमंती इन बच्चों के संपर्क में आई ...

Read More »

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful