संपादकीय

कैसे डूब गया अनिल अंबानी का पूरा साम्राज्य?

अनिल अंबानी के साम्राज्य के पतन की हर तरफ चर्चा हो रही है. 10 साल पहले दुनिया के सबसे अमीर शख्सियत में से एक रहे अनिल अंबानी की एरिक्सन कंपनी की देनदारी ना चुकाने पर जेल जाने तक की नौबत आ गई. कई प्रतिद्वंद्वियों का कहना है कि अनिल अंबानी बेहद महत्वाकांक्षी थे जबकि अनिल अंबानी के समर्थन में खड़े ...

Read More »

सरकारें बदलीं पर नहीं बदली कूड़ा बटोरने वालों की किस्मत

नैनीताल : मौसम खराब है। सुबह से घर से निकले हैं। नालों में जैसे-तैसे घुसकर प्लास्टिक, गत्ते, कपड़ों को चुन-चुन कर बड़ा ढेर जमा किया है। अब चिंता है कि यह ढेर कैसे घर पहुंचे, जिसे बेचकर खुद की तथा बच्चों की परवरिश हो सके। तमाम झंझावतों के बीच लोकतंत्र के प्रति इतनी आस्था कि वोट तो हर बार दिया है, ...

Read More »

सरकार क्यों जानना चाहती है डाक्टरों की धर्म और जाति !

दिल्ली के औल इंडिया इंस्टीट्यूट औफ मैडिकल साइंसेज ने हाल में डाक्टरों का डाटाबेस बनाने के लिए एक फार्म बंटवाया ताकि डाक्टरों के सही नाम, पते, फोन नंबर आदि जमा करे जा सकें. इस में धर्म और जाति के भी कालम थे और इस पर जम कर हंगामा खड़ा हो गया. प्रशासकीय विभाग ने इन कालमों को डालने का खेद ...

Read More »

महिलाओं को डायन बनाना समाज की कैसी मानसिकता है?

कई दफा अखबारों में पढ़ने को मिलता है, “अमुक गाँव में एक महिला को डायन कह कर हत्या कर दी गई”, “महिला को डायन बताकर गाँव में नंगा घुमाया गया”, “महिला को मैला पिलाया गया और डायन कह कर पीटा गया” आदि। ग्रामीण इलाकों में खासकर ऐसी चीज़ें देखने को मिलती हैं। ग्रामीणों का पहला टारगेट उन महिलाओं पर होता है, जो या तो अकेली ...

Read More »

प्रियंका गांधी की गंगा यात्रा बदलेगी कांग्रेस की तकदीर?

कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी अपने चुनावी अभियान की शुरुआत गांधी परिवार के पैतृक शहर प्रयागराज यानी इलाहाबाद से करेंगी. 18 मार्च से 20 मार्च तक वो प्रयागराज से वाराणसी के बीच गंगा नदी में जलमार्ग से यात्रा करेंगी और इस दौरान उनके जनसंपर्क और कई अन्य कार्यक्रम रखे गए हैं. प्रियंका गांधी के इस दौरे को ...

Read More »

पुलवामा हमले पर जमकर हो रही राजनीति

(मोहन भुलानी) इसके बावजूद जवानों को क्यों नहीं एयर लिफ्ट किया गया? क्यों नाका डाल तलाशी नहीं की गई? जवानों को मौत के मुंह में क्यों ढकेल दिया गया? ऐसा इसलिए किया गया ताकि वे चुनाव में जवानों की शहादत पर सियासत कर सकें। तृणमूल सुप्रीमो ने लोकसभा चुनाव के पहले युद्ध को लेकर उन्मादी माहौल बनाने का आरोप केंद्र ...

Read More »

आदिवासी घरेलू नौकरानियाँ कब तक होंगी बलात्कार का शिकार !

(मोहन भुलानी) मेहनत,  कर्मठता और ईमानदारी का पर्याय ये महिलाएं थोड़ी मेहनत और ट्रेनिंग के बाद घर के चूल्हे चौके और बच्चों की देखभाल का पूरा काम बखूबी संभाल लेती हैं। आदिवासी परिवार अपने परिवार के साथ-साथ दूसरों के परिवार को भी संभालती हैं लेकिन इनके कठिन परिश्रम और अथक योगदान को सम्मान और मान्यता देने में भी हमारा समाज ...

Read More »

जिस मुद्दे को भारत में समाज अभिशाप समझता है उसी ने दिलाया ऑस्कर

दिल्ली की चकाचौंध से दूर एक गांव काठी खेड़ा, जो दिल्ली से महज़ 115 किमी हापुड़ ज़िला का हिस्सा है। हममें से शायद ही किसी ने यह नाम पहले सुना होगा किन्तु आज यह जगह दुनियाभर में जिज्ञासा का विषय बना हुआ। वह जिज्ञासा भी इस बात को लेकर है जिसपर आप बात भी ना करना चाहते हो या जिसकी ...

Read More »

कश्मीर: अंधेरी सुरंग में भटक रहीं समाधान की नीतियां

खबर प्लांट करके विमर्श को बदलकर राजनैतिक संकट से पार पाने का हुनर पहले भी दिखाया जाता रहा है। 1982 में जब विपक्षी ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आवाहन पर ऐतिहासिक भारत बंद हुआ था तो उसका इंपैक्ट खत्म करने के लिए उसी दिन आकाशवाणी के रात पौने नौ बजे के मुख्य समाचार बुलेटिन के ठीक पहले इंदिरा गांधी ने महाराष्ट्र ...

Read More »

धर्म के नाम पर “वंदे भारत एक्सप्रेस” कौन बना रहा है निशाना !

(मोहन भुलानी) अपने यहां धर्म के नाम पर जिस तरह से वंदे भारत एक्सप्रेस को निशाना बनाया जा रहा है, यह भारत को आत्मनिर्भर बनाने के केंद्र सरकार के मिशन को एक बड़ा झटका है। अगर लोग ट्रेनों को, विकास की परियोजनाओं को भी जाति और धर्म से जोड़कर देखना शुरू कर देंगे, तो फिर हर चीज की तरह ये ...

Read More »

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful