पटना में पकड़ा गया दाऊद का करीबी एजाज लकड़ावाला

मुंबई. भारत में मोस्‍टवांटेड आतंकी दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के शूटर भगोड़े गैंगस्‍टर एजाज लकड़ावाला (Ejaz Lakdawala) को मुंबई क्राइम ब्रांच (Mumbai Crime Brach) गिरफ्तार कर चुकी है. हालांकि, उसे गिरफ्तार करने के बाद भी पुलिस की मुश्किलें खत्‍म नहीं हुईं. गिरफ्तारी के बाद पुलिस के सामने उसकी पहचान पुख्‍ता करने की चुनौती खड़ी हो गई. दरअसल, 20 साल से ज्यादा समय के बाद मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के पास एजाज की पहचान करने के लिए सिर्फ एक फोटो थी. ये फोटो भी 23 साल पुरानी थी. वहीं, एजाज की बेटी की गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस उसकी हालिया फोटो हासिल नहीं कर पाई. एजाज की पहचान पुख्‍ता करने में उसकी बेटी से मिली जानकारी ने काफी मदद की.

सोनिया ने बताया, सिर्फ महंगी काली और ब्राउन जैकेट पहनता है एजाज
एजाज लकड़ावाला की बेटी सोनिया (Sonia Lakdawala) को 28 दिसंबर को मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने मुंबई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया था. वह फर्जी पासपोर्ट का इस्तेमाल कर अपनी बेटी के साथ नेपाल भाग रही थी. उसे जबरन वसूली के दूसरे मामले में गिरफ्तार किया गया था. वह अपने पिता के कहने पर बांद्रा के एक बिल्डर से रंगदारी वसूलने के लिए धमकी दे रही थी. गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला की गिरफ्तारी के बाद मुंबई पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर (क्राइम) संतोष रस्तोगी ने बताया, ‘उसकी बेटी हमारी हिरासत में थी. उसने हमें बहुत सी जानकारी दी, जिसके आधार पर हमने पता लगाया.’ बेटी ने पुलिस को बताया कि अभी भी एजाज एक महंगी काली-भूरी ब्राउन जैकेट पहनता है. वह हमेशा अपने साथ सिर्फ एक ही महंगी सिगरेट (Marbolo) का पैकेट रखता है. वह कोई दूसरी सिगरेट नहीं पीता.

गोलियों के निशान को छुपाने के लिए हर मौसम में स्‍कार्फ पहनता है
सोनिया ने बताया कि एजाज लकड़ावाला के गले में हर मौसम में एक स्कार्फ हमेशा रहता है. दरअसल, 2002 में बैंकॉक हमले में एजाज बुरी तरह से घायल हो गया था. उसे कई गोलियां लगी थीं. गले में गोलियों के निशान को छुपाने के लिए वह हमेशा गले में स्कार्फ पहने रहता है. मुंबई पुलिस ने पटना के जक्कनपुर बस स्टैंड पर सबसे पहले जैकेट और स्कार्फ पहने शख्स की पहचान की. पुलिस ने उसका पहचान पत्र भी मांगा जो नकली था. बाद में पुलिस ने उसकी फोटो खींचकर मुंबई के एक अधिकारी को भेजी. इसके बाद पहले से गिरफ्तार उसकी बेटी ने एजाज की पहचान की. मुंबई पुलिस बेटी की शिनाख्‍त के बाद भी पूरी तरह से संतुष्‍ट होना चाहती थी. इसलिए पुलिस ने एजाज को हिरासत में लेने के बाद उसके गले और शरीर पर गोलियों के निशान देखना चाहती थी. पुलिस को उसके गले और शरीर पर गोली के निशान मिले. इसके बाद मुंबई पुलिस एजाज को पटना से मुंबई लाई और गिरफ्तार किया.

एजाज पर दर्ज हैं 25 मुकदमे, कोर्ट ने 21 जनवरी तक हिरासत में भेजा एजाज लकड़ावाला को मुंबई क्राइम ब्रांच और बिहार एसटीएफ (Bihar STF) ने 9 जनवरी को पटना एयरपोर्ट (Patna Airport) के पास जक्कनपुर थानाक्षेत्र से गिरफ्तार किया था. उसके साथ दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया. पहचान पुख्‍ता करने के बाद मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम उसे वापस मुंबई ले आई. उसे 21 जनवरी तक हिरासत में भेज दिया गया है. बता दें कि एजाज पर 25 मुकदमे दर्ज हैं. वह अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन का भी करीबी रहा है. एजाज महाराष्ट्र पुलिस का मोस्टवांटेड है. उसके खिलाफ मुंबई और दिल्ली में दो दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं. इनमें रंगदारी, वसूली, हत्या और फिरौती के मामले शामिल हैं.

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful