नेपाल सीमा पर बढ़ी चौकसी

गोरखपुर,   गणतंत्र दिवस को देखते हुए नेपाल से लगने वाली सीमा पर गश्त बढ़ दी गई है। ताकि देश में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में रहने वाले देश विरोधी तत्व दोनों देशों के बीच खुली सीमा का दुरपयोग न सकें।

एडीजी दावा शेरपा ने नेपाल सीमा से लगने वाले जिलों के पुलिस कप्तानों को पत्र लिखकर सीमाई इलाके में लगातार गश्त करने और सीमा की सुरक्षा में तैनात एसएसबी से तालमेल बिठाकर निगहबानी करने का निर्देश दिया है। दोनों देशों को जोडऩे वाले पगडंडियों पर खासतौर से नजर रखने का निर्देश दिया है।

जोन के छह जिलों कुशीनगर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, बहराइच, बलरामपुर और श्रावस्ती जिले की सीमा नेपाल से लगती है। दोनों देशों के बीच आवाजाही के लिए अधिकृत रास्ते निर्धारित हैं लेकिन दोनों देशों में सीमाई इलाके में रहने वाले ग्रामीणों की रोजमर्रा की जरूरतों के लिए दिनभर में कई बार एक देश से दूसरे देश में आवाजाही लगी रहती है। इसके लिए उन्होंने अपनी सुविधानुसार पगडंडी बना रखे हैं।

 

अधिकृत रास्तों पर तो हर समय सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहते हैं, लेकिन पगडंडी पर सुरक्षा व्यवस्था करना संभव नहीं है। हालांकि एसएसबी जवान लगातार गश्त कर इन रास्तों पर नजर रखते हैं लेकिन इन रास्तों से आवाजाही नहीं रुक पाती।

भारत से लगने वाली नेपाल की सीमा की कुल लंबाई 1751 किलोमीटर है। 454 किलोमीटर की लंबाई में नेपाल उत्‍तर प्रदेश से लगा हुआ है। करीब 300 किलोमीटर की सीमा गोरखपुर जोन से जुड़ी हुई है। महराजगंज में 104 पगडंडियां चिह्नित की गई हैं।

आपराधिक या आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने वाले तत्व पगडंडियों का ही इस्तेमाल कर ही देश की सीमा में प्रवेश करते हैं। इसको देखते हुए एडीजी जोन ने 26 जनवरी के मद्देनजर अलर्ट जारी किया है।

उन्होंने पगडंडी रास्तों के साथ ही सीमाई इलाके में संदिग्ध नजर आने वालों पर विशेष नजर रखने का निर्देश दिया है। वैसे 22 दिसंबर को सिलीगुड़ी में देखे गए दो आतंकियों के कुशीनगर, महराजगंज या सिद्धार्थनगर जिले से होकर नेपाल भागने की खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद सीमा पर पहले से ही चौकसी बरती जा रही है। एडीजी जोन ने इसे और बढ़ाने का निर्देश दिया है।

एडीजी जोन दावा शेरपा का कहना है कि नेपाल सीमा पर पहले से ही चौकसी बरती जा रही है। गणतंत्र दिवस को देखते हुए इसे और बढ़ा दिया गया है। किसी भी अवांछित तत्व को खुली सीमा का दुरपयोग नहीं करने दिया जाएगा।

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful