PM ने दिल्ली में प्रदूषण को लेकर अफसरों के साथ की समीक्षा

नई दिल्ली, दिल्ली में प्रदूषण के हालात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मंगलवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर समीक्षा की। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को लेकर मंगलवार को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में सुनवाई हुई। इस दौरान एनजीटी ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण फैलाने वाली हर गतिविधि बंद होनी चाहिए।

दिल्ली-एनसीआर को अगले कुछ दिनों के दौरान प्रदूषण से राहत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। दरअसल, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) के मुताबिक, उत्तर भारत की मौसम और वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के चलते दिल्ली-एनसीआर की हवा में सुधार हुआ है। मौसम विभाग की मानें तो अगले कुछ दिनों में और सुधार होगा। वहीं, 7-8 नवंबर को बारिश का भी पूर्वानुमान जताया गया है।

दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को लेकर उठाए गए कदम कारगर साबित नहीं हो रहे हैं। वहीं, मंगलवार को तेज धूप निकली हुई है और स्मॉग का असर रविवार और सोमवार की तुलना में कम है। इससे लोगों ने हल्की राहत महसूस की है।

Delhi Pollution 2019 Report : 

  • सोमवार को अपने आदेश में एनजीटी ने दिल्ली प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन के अलावा सीपीसीबी के चेयरमैन को भी मंगललवार सुबह 10:30 बजे पेश होने का आदेश दिया है।
  • मंगलवार को उत्तर प्रदेश के लोनी से विधायक नंद किशोर गुर्जर (Nand Kishor Gurjar, BJP MLA from Loni, Ghaziabad) ने पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को खत लिखकर कृत्रिम बारिश कराने की मांग की है, ताकि यहां पर प्रदूषण कम हो सके। 
  • स्‍काइमेट वेदर के मुताबिक, जम्‍मू-कश्‍मीर के पास से एक पश्चिमी विक्षोभ आगे बढ़ रहा है। इससे दिल्‍ली-एनसीआर समेत उत्‍तर भारत के मैदानी इलाकों में उत्‍तर पश्चिमी शुष्‍क हवाएं पहुंचनी शुरू हो गई हैं, जिससे दिल्ली-NCR में रहने वाले लोगों को प्रदूषण से निजात मिलेगी।
  • मंगलवार को भी नहीं मिली कोई खास राहत, सोमवार की तरह बढ़ा हुआ है वायु गुणवत्ता सूचकांक
  • नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 के पार है
  • नोएडा में वायु गुणवत्ता सूचकांक 519 तो ग्रेटर नोएडा में 424 है।

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक 492 हैबता दें कि दिवाली के अगले दिन से वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) स्तर में इजाफा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, दिल्ली में मंगलवार सुबह दिल्ली के लोधी रोड इलाके में पीएम 2.5 का स्तर 500 तो पीएम 10 का स्तर 41 बना हुआ है। ऐसे में औसत AQI 400 से अधिक है, जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

दिल्ली में प्रदूषण के स्तर में गिरावट दर्ज हुई है। सोमवार को प्रदूषण के स्तर में रविवार की तुलना में कमी आई। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार सोमवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 494 दर्ज हुआ। मौसम वैज्ञानिकों ने संकेत दिए हैं कि अगले दो दिनों तक दिल्ली में 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी तो प्रदूषण के स्तर में और भी गिरावट आएगी। हालांकि, दिल्ली में सोमवार के दिन हवा चलने के बाद भी खतरनाक श्रेणी में प्रदूषण का स्तर बना हुआ है।

मौसम वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली और आसपास के इलाकों में सोमवार को 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। मंगलवार को भी प्रदूषण के स्तर में कमी आने की उम्मीद है। प्रदूषण का स्तर खतरनाक श्रेणी से गिरकर खराब श्रेणी में आ सकता है। उन्होंने बताया कि इसके बाद 7 नवंबर के दिन दिल्ली और आसपास के इलाकों में बारिश होने की संभावना है। उत्तर भारत में फिर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा।

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful