कैथल में पुलिस ने आतंकी वारदात को होने से पहले ही विफल कर दिया

हरियाणा के कैथल में पुलिस ने एक बड़ी आतंकी वारदात को होने से पहले ही विफल कर दिया. दरअसल, बीते सोमवार शाम को केंद्रीय एजेंसियों और पंजाब इंटेलिजेंस से मिले इनपुट के आधार पर कैथल की स्थानीय पुलिस और अंबाला एसटीएफ की टीम ने कैथल में जींद और रोहतक की ओर जाने वाले हाईवे पर एक संदिग्ध बॉक्स बरामद किया. बॉक्स की जांच करने पर बाद में पता लगा कि इसमें करीब डेढ़ किलो आरडीएक्स लगाया गया था और विस्फोट करने के लिए टाइमर, डेटोनेटर और बैटरियां भी लगाई गई थीं. हालांकि बम को अभी एक्टिवेट नहीं किया गया था, जिसके बाद यहां से बम को हटाकर निष्क्रिय किया गया.

हरियाणा के कैथल में मिले आरडीएक्स मामले में पाकिस्तान में छिपकर बैठे आतंकी हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा का हाथ सामने आया है. रिंदा ने आईएसआई के इशारे पर पंजाब में एक्टिव अपने स्लीपर सेलों के माध्यम से ये टाइमर और बैटरी लगा हुआ आरडीएक्स भिजवाया था. हरविंदर सिंह रिंदा पंजाब में छिपकर बैठे खालिस्तान समर्थक आतंकियों का इस्तेमाल कर रहा है.

हर एंगल से जांच कर रही एनआईए की टीम

एनआईए की टीम इस एंगल पर जांच कर रही है कि क्या गैंगस्टरों का इस्तेमाल करके भारत में आतंकी वारदात को अंजाम देने की पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई कोशिश कर रही है. अब इसी एंगल पर हरियाणा पुलिस भी मामले की जांच कर रही है. आरडीएक्स के साथ नौ घंटे का टाइमर लगा हुआ था. हालांकि उसे एक्टिव नहीं किया गया था. फिलहाल हरियाणा पुलिस की एसटीएफ इस बात की जांच कर रही है कि इस विस्फोटक का इस्तेमाल कहां पर किया जाना था.

डेढ़ किलोग्राम आरडीएक्स बरामद

सूत्रों के मुताबिक, हरियाणा के कैथल में जो विस्फोटक मिला है, वो विस्फोटक करीब डेढ़ किलोग्राम आरडीएक्स है. मौके से 1.5 किलो आरडीएक्स, डेटोनेटर और मैगनेट भी मिले हैं. सूत्रों का कहना है कि आईईडी हाल ही में अंबाला में मिले आईईडी जैसा है, जो एक चिपचिपे बम जैसा दिखता है. ऐसे तीन आईईडी हाल के दिनों में हरियाणा में बरामद किए गए हैं. अंबाला, कुरुक्षेत्र और अब कैथल में ऐसे ही विस्फोटक मिल चुके हैं.

आशंका जताई जा रही है कि ये आईईडी कैथल में इस्तेमाल के लिए नहीं लाई गई थी, बल्कि इसे आगे के ट्रांजिट के लिए रखा गया था. इस आईईडी के Destination की जानकारी अभी नहीं है, क्योंकि इस मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान द्वारा ड्रोन के जरिए पंजाब के रास्ते ये आईईडी और आरडीएक्स आ रहे हैं और भारत के भीतरी इलाकों में भेजे जा रहे हैं.

खंभे के पास छिपाकर रखा गया था विस्फोटक

कैथल में जिस जगह पर ये बम रखा गया था, वहां पर एक साइन बोर्ड लगा है, जिस पर रोहतक और जींद की ओर जाने का निशान है. यानि यहां से अगर किसी को दिल्ली जाना हो तो उसके लिए यही रूट है. इस साइन बोर्ड के खंभे के पास ही विस्फोटक को छिपाकर रखा गया था, ताकि आसानी के साथ स्लीपर सेल का हैंडलर इस जगह को पहचान ले और आरडीएक्स लगे बम को उठा ले और जिस जगह पर विस्फोट करना है, वहां के हैंडलर को ये बम पहुंचा दे.

हरियाणा के गृहमंत्री ने दी जानकारी

डेढ़ किलो आरडीएक्स लगे बम को देखकर हरियाणा पुलिस के भी होश फाख्ता हो गए थे. ये साफ हो गया था कि ये काम किसी आतंकी संगठन का है और इसी एंगल पर इस पूरे मामले की जांच की जा रही है. हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा सीमा पार से विस्फोटक भेजकर लगातार इस तरह की कोशिश की जाती रही है. हरियाणा को रूट की तरह इस्तेमाल करने का प्रयास किया जाता है, लेकिन हरियाणा पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है. इसी वजह से पिछले चार महीने में विस्फोटक लगे बम की तीन खेप हरियाणा पुलिस की एसटीएफ बरामद कर चुकी है और पाकिस्तान के मंसूबों को किसी भी हाल में पूरा नहीं होने दिया जाएगा.

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful