प्रदर्शनकारियों से मिलीं प्रियंका

वाराणसी :कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बिजनौर, मुजफ्फरनगर, मेरठ और लखनऊ के बाद अब वाराणसी का रुख किया है. प्रियंका गांधी नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार लोगों के जेल से निकलने के बाद उनसे मुलाकात कर रही हैं.

प्रियंका गांधी वाराणसी में राजघाट से नाव पर सवार होकर कुछ ही दूरी पर स्थित पंचगंगा घाट स्थित श्रीमठ पहुंच प्रदर्शनकारियों और पीड़ितों से मिलीं. इनमें 19 जनवरी को शहर के बेनियाबाग से गिरफ्तार समाजसेवी संगठनों और बीएचयू के 18 छात्रों के अलावा वे दंपति भी थे जिनकी सवा साल की दुधमुंही बच्ची चंपक 14 दिनों तक अपने मां से जुदा थी.

पंचगंगा घाट से सीएए के पीड़ितों से मिलने के प्रियंका गांधी मीडिया से भी रू-ब-रू हुईं. उन्होंने बताया, ‘मैं बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के उन बच्चों से मिलने आई थी जो प्रदर्शन के दौरान डिटेन और गिरफ्तार किए गए थे. बीएचयू के प्रदर्शनकारी छात्रों को 15 दिनों तक जेल में रखा गया. इनके अलावा सामाजिक कार्यकर्ता एकता भी थीं, जिनकी छोटी बच्ची जेल जाने के बाद उनका इंतजार कर रही थी. उन्हीं लोगों से मिलना चाह रही थी.’

प्रियंका गांधी ने बताया कि सभी प्रदर्शनकारियों ने मुलाकात के दौरान बताया कि उनके साथ क्या और कैसा बर्ताव हुआ. वे सभी शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे. उन सभी को उठाकर जेल में पटक दिया गया. प्रदर्शनकारियों के साथ बहुत ही अन्याय हुआ है. सभी प्रदर्शनकारियों को 15 दिनों तक जेल में रखा गया और अलग-अलग बहुत ही सीरियस धाराएं भी लगाई गई हैं. मुझे उन सभी पर गर्व है कि उन्होंने इतना संघर्ष किया, करते रहेंगे और देश की आवाज उठाते रहेंगे. जो सरकार कर रही है वह संविधान के खिलाफ है, संविधान और देश को तोड़ने का काम है. जो बच्चे खड़े हैं मैं उनके लिए आभारी हूं. बता दें कि 20 तारीख को वाराणसी के बजरडीहा में सीएए के खिलाफ लाठीचार्ज के दौरान 8 वर्षीय मो. सगीर के पिता भी आए थे जो भगदड़ में दबकर मर गया था.

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि प्रदर्शनकारियों के साथ किस तरह का वाराणसी के डीएम और अन्य पुलिस अधिकारियों ने व्यवहार किया, सभी प्रदर्शनकारियों ने बताया है. जबकि सभी शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे. सारे प्रदर्शनकारियों ने अपने नारों को भी सुनाया जो वह इस्तेमाल कर रहे थे इसमें कोई गलत बात नहीं थी.

वहीं चंपक की मां एकता शेखर ने बताया कि प्रियंका गांधी ने उनसे वादा किया है कि उनकी सरकार बनी तो वो सीएए जैसे कानून को वे खत्म कर देंगी. जेल में बंद रहे बीएचयू के एमए करने वाले नीरज राय ने भी प्रियंका गांधी से मुलाकात की. नीरज राय ने बताया कि उन्होंने प्रियंका गांधी को अवगत कराया कि लगातार छात्र देश भर में लड़ रहे हैं लेकिन जब वे जेल जाते हैं तो उनको जमानतदार तक नहीं मिलते हैं और किसी तरह का लीगल मदद भी नहीं मिलती.

प्रियंका गांधी वाराणसी एयरपोर्ट से सीधे राजघाट स्थित रविदास मंदिर पहुंचीं जहां उन्होंने संत रविदास के दर्शन किए. इसके बाद प्रियंका गांधी नाव से ही विश्वनाथ मंदिर के पास गंगा तट पर पहुंची जहां उन्होंने न केवल बाबा विश्वनाथ का दर्शन पूजन किया, बल्कि विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर को भी देखा. वाराणसी में लगभग तीन घंटों के बाद प्रियंका गांधी जयपुर के लिए रवाना हो गईं.

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful