Tag Archives: economy

मनी लांड्रिंग मामलों में 884 कंपनियां जांच के घेरे में

नयी दिल्ली। केन्द्रीय मंत्री पी पी चौधरी ने कहा कि धनशोधन के विभिन्न मामलों में कम से कम 884 कंपनियां जांच के दायरे में हैं तथा मनी लांड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत शुरू की गयी जांच में 5,000 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियों की कुर्की की गई है। उन्होंने कहा कि हालांकि सरकार के द्वारा धनशोधन के आरोप में एक ...

Read More »

टाटा स्टील और जर्मन स्टील कंपनी का विलय

जर्मन स्टील कंपनी थिसेन क्रुप के कर्मचारियों ने भारी बहुमत से प्रतिद्वंद्वी कंपनी टाटा के साथ विलय का रास्ता साफ कर दिया है. ट्रेड यूनियन आईजीएम के अनुसार 92 प्रतिशत ने कंपनी के साथ हुए श्रमिक समझौते का समर्थन किया. ट्रेड यूनियन ने विलय के सिलसिले में थिसेन क्रुप कंपनी के साथ हुए श्रमिक समझौते पर सदस्यों से राय मांगी ...

Read More »

सुपरटेक ने लौटाया इंडियाबुल्स को 70 करोड़

सुपरटेक ने इंडियाबुल्स समूह से लिया 70 करोड़ रुपये का कर्ज लौटा दिया है. यह धन उसने पिछले सप्ताह अल्टिको कैपिटल से जुटाया था. नोएडा स्थित इस डेवलपर कंपनी ने अल्टिको कैपिटल से पिछले सप्ताह 430 करोड़ रुपये जुटाये थे. सूत्रों के अनुसार सुपरटेक ने इंडियाबुल्स समूह को 70 करोड़ रुपये के कर्ज का भुगतान कर दिया है. शेष धनराशि ...

Read More »

RBI ने बंद कर दी है 2,000 रुपये के नोट की छपाई?

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक ने या तो बड़ी तादाद में 2,000 रुपये के नोट को जारी करने से रोक दिया है या फिर इसकी छपाई बंद कर दी है. भारतीय स्टेट बैंक की एक शोध रिपोर्ट में यह बात कही गई है. स्टेट बैंक की इकोफ्लैश रिपोर्ट के अनुसार लोकसभा में हाल में पेश किए गए आंकड़ों से यदि ...

Read More »

उग्र हिंदुत्व और वैकल्पिक राजनीति के अभाव में अटका देश

(By अजय गुदावर्ती) संघ परिवार की रणनीति में भारी विरोभास है. एक तरफ वे आधुनिकता के सिरे से पूंजीवादी व्यवस्था जिसमें बुलेट ट्रेन और विकास की अवधारणा को प्रतीक के तौर पर पेश किया जाता है और दूसरी तरफ खुद ही पूंजीवादी विकास बनाने के लिए जरूरी समाजिक समरसता के माहौल को बर्बाद करते हैं. यही विरोधाभास भारत में दक्षिणपंथियों का ...

Read More »

नोटबंदी का एक साल -रह गए वो 10 सवाल

नोटबंदी का एक साल हो गए। पिछले साल आज के ही दिन प्रधानमंत्री मोदी के इस फैसले से पूरे देश में अफरा-तफरी सा माहौल हो गया। सरकार ने इस फैसले को ऐतिहासिक बताया और जनता के हितकारी बताया गया। ऐसा कहा गया कि इस फैसले से कालेधन पर लगाम लगेगी और देश भ्रष्टाचारमुक्त होगा। इस फैसले को एक साह हो ...

Read More »

आखिर किसके लिए है यह ग्लोबलाइजेशन?

(डॉ. विजय अग्रवाल) फिलहाल जीडीपी, जीएसटी, तेजोमहल, पगलाया विकास, गुजरात चुनाव, गौरव यात्रा, बाबाओं के रोमांस आदि-आदि का शोर इतना अधिक है कि इस कोलाहल में भला भूखेपेट वाले मुंह से निकली आह और कराह की धीमी और करुण आवाज कहां सुनाई पड़ेगी. ऐसी ही एक ताजातरीन आवाज यह थी कि वैश्विक भूख सूचकांक में भारत ने शतक बना लिया ...

Read More »

किसी को वोट की चिंता, किसी को नोट की चिंता !

(मोहन भुलानी, न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया) किसी को वोट की चिंता, किसी को नोट की। दोनो एक दूसरे में गुंथे हुए। यद्यपि दोनों का आपस में चोली-दामन का संबंध है लेकिन अपना-अपना अस्तित्व बचाए रखने के लिए बाजार की अपनी चिंताएं हैं और सरकार की अपनी चिंताएं। बाजार बेचने में मस्त हैं तो सरकार की चिंताएं कुछ और। आइए, आज ...

Read More »

मोदी बोले- GST मतलब “Growing Stronger Together “

संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है. कांग्रेस समेत समूचा विपक्ष इस सत्र में सरकार पर हावी होने के लिए पूरी रणनीति के साथ तैयार है. विपक्ष किसान, कश्मीर, चीन, गोरक्षक और जीएसटी समेत कई मुद्दों पर सरकार को घेरेगा. संसद सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जीएसटी की वजह से संसद ...

Read More »

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful