पिंक बॉल से टीम इंडिया करना चाहेगी टाइगर्स को क्लीन स्वीप

कोलकाता : भारतीय क्रिकेट टीम बांग्लादेश के साथ शुक्रवार से यहां ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले जाने वाले पहले ऐतिहासिक दिन-रात टेस्ट मैच को जीतकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप करने के इरादे से मैदान पर उतरेगी.भारत ने इंदौर में खेले गए पहले टेस्ट मैच में बांग्लादेश को पारी और 130 रनों से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना रखी है और साथ ही उसने आईसीसी विश्च चैंपियनशिप की अंकतालिका में अपनी बढ़त को भी मजबूत कर लिया है.

पहला टेस्ट मैच मात्र तीन दिन में ही समाप्त हो गया था. उस मैच में भारतीय सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने 243 रनों की शानदार पारी खेली थी, जबकि बांग्लादेश की टीम पहली पारी में 150 और दूसरी पारी में 213 रन पर ऑल आउट हो गई थी.दुनिया की नंबर वन टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली की टीम टेस्ट चैंपियनशिप के शुरू होने के बाद से अब तक सभी छह मैच जीत चुकी है. इसमें से वे वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ के खिलाफ हुई सीरीज में क्लीन स्वीप का चुकी है.

भारतीय टीम की नजरें अब इस सीरीज में भी क्लीन स्वीप करने पर लगी हुई है और वह उस टीम के खिलाफ जो अफगानिस्तान से अपना पिछला सीरीज हार चुकी है.दोनों टीमों के लिए ये मैच ऐतिहासिक होने वाला है, क्योंकि दोनों टीमें पहली बार अपना दिन-रात टेस्ट मैच खेलने के लिए उतर रही हैं.

बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद से सौरव गांगुली के इस काम को उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि के रूप में देख जा रहा है. गांगुली ने ही बांग्लादेश को दिन-रात टेस्ट मैच खेलने के लिए राजी करवाया है.मैच की शुरुआत से पहले आर्मी पैराट्रपर्स के जवान उड़कर ईडन गार्डन्स आएंगे और चे दोनों कप्तानों को पिंक बॉल सौपेंगे.
इसके बाद टॉस की जाएगी और फिर राजनीतिज्ञों, खेल दिग्गजों और खचाखच भरे दर्शकों की मौजूदगी में मैच की शुरूआत की जाएगी.दिन-रात टेस्ट में ढलती शाम के समय जब फ्लट लाइट चालू हो जाती हैं, उस समय बल्लेबाजों को आने वाली परेशानी को लेकर काफी चर्चा हुई थी. इस ‘ट्विलाइट जोन’ से सामंजस्य बैठाने को लेकर काफी चर्चा हुई है.
भारत के कुछ खिलाड़ियों ने इस ट्विलाइट में गुलाबी गेंद को देखने में आने वाली समस्या के बारे में बातें कहीं थीं. ये खिलाड़ी दिन-रात प्रारूप में दलीप ट्रॉफी खेल चुके हैं.ईडन गार्डन्स में खेले जाने वाला ये मैच एसजी गेंद से खेला जाएगा और ये देखना दिलचस्प होगा कि ये किस तरह से बर्ताव करती है. इस ‘ट्विलाइट जोन’ भारतीय बल्लेबाजों, खासकर कोहली के लिए काफी चुनौतीपूर्ण होने वाली है, क्योंकि उन्हें अभी तक गुलाबी गेंद से खेलने का अनुभव नहीं है.

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful